भारत उत्तर प्रदेश के एक वीआईपी निर्वाचन क्षेत्र में रूसी-डिज़ाइन की कलाश्निकोव असॉल्ट राइफलों का निर्माण करने वाला है, जिसके डर से पाकिस्तान तुर्की के पास पहुंच रहा है, चीन के अलावा उसके पास एकमात्र अन्य प्रमुख रक्षा आपूर्तिकर्ता टर्की ही है।

पाकिस्तान ने अपनी सेना के लिए MPT-6 असॉल्ट राइफलों के लिए तुर्की के सरकारी स्वामित्व वाले ASFAT से संपर्क किया है। पाकिस्तानी सेना ने पाकिस्तान में परीक्षण के लिए कुछ राइफल और गोला-बारूद मांगा है। ASFAT में MPT-76 का हल्का संस्करण है। इसको पाकिस्तान आजमाना चाहता है। पाकिस्तान के आयुध कारखाने टेक्नोलॉजी ट्रांसफर के बाद अपने आयुध कारखानों में 100,000 एमपीटी-76 असॉल्ट राइफलों का निर्माण करना चाहते हैं और इस अनुबंध पर 2022 के मध्य में हस्ताक्षर होने की संभावना है।

इसके अलावा, पाकिस्तान असॉल्ट राइफलों के निर्माण के लिए टेक्नोलॉजी ट्रांसफर के लिए दक्षिण अफ्रीका की फर्म ट्रूवेलो के साथ भी बातचीत कर रहा है। इनका निर्माण वाह में पाकिस्तान आयुध निर्माणी में किया जा सकता है। Truvelo’s Raptor एक विशेष रूप से मांगी जाने वाली असॉल्ट राइफल है।

तुर्की भी विशेष रूप से पाकिस्तान को कार्वेट नौसैनिक हथियारों की आपूर्ति करता है, चीन के अलावा, यह शायद एकमात्र देश है जिसने पाकिस्तान को बड़े-पैमाने पर सैन्य उपकरणों की आपूर्ति की है।

Share.

Leave A Reply