हाई स्पीड वेसल कस्टमइजशन के लिए टेंडर में भारत की अपकमिंग नुक्लेयर अटैक सबमरीन डिजाइन का हुआ खुलासा

493

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

हाई स्पीड वेसल कस्टमइजशन और हाइड्रोडायनामिक परफॉरमेंस के मूल्यांकन के लिए हाल ही में एकटेंडर में, भारत की आगामी परमाणु हमला पनडुब्बी (एसएसएन) के डिजाइन के बारे में संभावित विवरण अनजाने में प्रकट किए गए हैं। निविदा से पता चलता है कि एसएसएन पंप-जेट प्रोपल्शन को शामिल करेगा और लंबी दूरी के लक्ष्य हमलों के लिए वेर्टिकाल और टारपीडो-ट्यूब-लॉन्च सुपरसोनिक और सबसोनिक क्रूज मिसाइलों से लैस होगा।

पनडुब्बी के प्राइमरी मिशनों में एंटी सरफेस और एंटी सबमरीन वारफेयर, भूमि पर हमला करने की क्षमता, खुफिया जानकारी एकत्र करना, क्राइसिस मैनेजमेंट और विशेष अभियान शामिल होने की उम्मीद है। 5000 और 6000 टन के बीच सुब्मिर्गेड डिस्प्लेसमेंट के साथ, एसएसएन को 190 मेगावाट परमाणु रिएक्टर द्वारा संचालित होने का अनुमान है।

भारत ने कुल छह पनडुब्बियां विकसित करने की योजना बनाई है, जिनमें से पहली तीन प्रारंभिक चरण के लिए निर्धारित हैं और पहले जहाज का 2032 के आसपास समुद्री परीक्षण होने की उम्मीद है। इस परियोजना को 2015 में प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के तहत सरकार द्वारा मंजूरी दी गई थी।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.